आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स | Ayurvedic Diploma Course

Ayurvedic Diploma Course: हर राज्य में किया जा रहा है क्योंकि लोग आयुर्वेद की ओर बहुत तेजी से आकर्षित हो रहे हैं और आने वाले समय में आयुर्वेद को बहुत ज्यादा महत्व दिया जाने वाला है जिसे दृष्टिगत रखते हुए सरकार ने आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स करा रही है।

जिससे छात्रों को आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स करके एक बेहतर रोजगार मिल सके और देश व प्रदेश के लोगों को आयुर्वेद से संबंधित सभी सुविधाएं मिल सके और आयुर्वेदिक पद्धति से अपना इलाज करा सकें।

तो आज इस लेख में हम आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स के बारे में जानने वाले हैं यदि

आप भी आयुर्वेद के महत्व को समझते हैं और आयुर्वेदिक से संबंधित कोई डिप्लोमा करना चाहते हैं तो हम यहां पर पूरी जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं।

जैसे की 12वीं के बाद आयुर्वेदिक कोर्स, आयुर्वेदिक डिप्लोमा कैसे प्राप्त करें, पंचकर्म आयुर्वेदिक कोर्स, आयुर्वेदिक कंपाउंडर कोर्स, डी फार्मा आयुर्वेदिक कोर्स आदि आयुर्वेदिक से संबंधित सभी तरह के कोर्स की जानकारी आपको यहां मिल जाएगा।

आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स | Ayurvedic Diploma Course
आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स | Ayurvedic Diploma Course

यदि आप आयुर्वेदिक डिप्लोमा संबंधी जानकारी जानना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें

आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स क्या है? Ayurvedic Diploma Course

आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स क्या है आयुर्वेद यानी जड़ी बूटियों का ज्ञान जिसमें मिलता है उसे आयुर्वेद डिप्लोमा कोर्स कहते हैं अर्थात जड़ी बूटियों से संबंधित जानकारी जैसे कि कौन सी जड़ी बूटी किस रोग में काम आती है आदि की संपूर्ण जानकारी जिसमें पढ़ाया जाता है उसे ही आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स कहा जाता है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर कैसे बने

12 वी के बाद आयुर्वेदिक कोर्स

  • बीएएमएस
  • बी फार्मा आयुर्वेद
  • बीएससी नर्सिंग आयुर्वेद
  • डी फार्मा आयुर्वेद
  • पंचकर्म आयुर्वेद

आदि आयुर्वेदिक कोर्स है जिसमें बीएएमएस जो कि एक डॉक्टर कोर्स है जिस पर प्रवेश पाने के लिए छात्र को 12वीं में जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषय के साथ पास होना अनिवार्य है इसके बाद नीट एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होता है इसके बाद वह बीएएमएस कोर्स कर सकता है जिसका समय 5 साल होता है और 1 साल का इंटरशिप भी करना होता है

बी फार्मा कोर्स 4 साल का होता है और कक्षा 12वीं में जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषयों के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है

आयुर्वेदिक और एलोपैथिक दोनों फार्मेसी के अंतर्गत आते हैं अतह आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण को बी फार्मा आयुर्वेद में शामिल किया गया है।

डी फार्मा कोर्स भी 2 साल का होता है जिसमें 12वीं के बाद जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषयों के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य होता है।

आयुर्वेदिक डिप्लोमा कैसे प्राप्त करें?

आयुर्वेदिक डिप्लोमा यानी डी फार्मा कोर्स 12वीं के बाद किया जा सकता है लेकिन 12वीं कक्षा में जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषयों के साथ 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है इसके बाद किसी भी आयुर्वेदिक कॉलेज या इंस्टीट्यूट में बी फार्मेसी का कोर्स किया जा सकता है यह कोर्स 2 साल का होता है मुझे समय आयुर्वेद से संबंधित सभी चीजें पढ़ाई जाती हैं और फाइनल एग्जाम होने के बाद रिजल्ट आता है इसके बाद आयुर्वेदिक डिप्लोमा मिल जाता है।

पंचकर्म आयुर्वेदिक कोर्स

पंचकर्म आयुर्वेदिक कोर्स 1 साल का कोर्स होता है जो 12वीं के बाद किसी भी सब्जेक्ट के छात्र पंचकर्म आयुर्वेदिक कोर्स कर सकता है।

आयुर्वेद नर्सिंग कोर्स

बीएससी नर्सिंग आयुर्वेद का कोर्स भी 3 से 4 साल का होता है और इस कोर्स को करने के लिए 12वीं मैं जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषयों के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना चाहिए इसके बाद बीएससी नर्सिंग आयुर्वेद का कोर्स किया जा सकता है

आयुर्वेदिक कम्पाउंडर कोर्स

आयुर्वेदिक कंपाउंडर कोर्स करने के लिए 12वीं में जीव विज्ञान फिजिक्स केमिस्ट्री विषयों के साथ कम से कम 50% अंकों के साथ पास होना अनिवार्य है इसके बाद 2 2 साल तक किसी संस्थान या आयुर्वेदिक कॉलेज में पढ़ाई करना है तत्पश्चात आप को आयुर्वेदिक कंपाउंडर का डिप्लोमा कोर्स प्राप्त हो जाएगा और आप कंपाउंडर बन जाते हैं

आयुर्वेदिक कॉलेज मध्यप्रदेश

  1. पंडित खुशीलाल शर्मा आयुर्वैदिक कॉलेज भोपाल
  2. शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद कॉलेज उज्जैन
  3. शासकीय अष्टांग आयुर्वेद कॉलेज इंदौर
  4. शासकीय आयुर्वेद कॉलेज जबलपुर
  5. शासकीय आयुर्वेद कॉलेज ग्वालियर
  6. शासकीय आयुर्वेद कॉलेज रीवा
  7. शासकीय आयुर्वेद कॉलेज बुरहानपुर

FAQs

डी फार्मा आयुर्वेदिक कोर्स fees

डी फार्मा आयुर्वेदिक कोर्स करने के लिए 1 साल में कम से कम 40 हजार और अधिकतम एक लाख तक लग सकता है हालांकि यह कम या ज्यादा भी हो सकता है क्योंकि अगर आप सरकारी कॉलेज में बी फार्मा करेंगे तो फीस कम होगा लेकिन प्राइवेट कॉलेज में यह कोर्स करते हैं तो आपको ज्यादा फीस भरना पड़ सकता है

पंचकर्म कोर्स फीस

पंचकर्म टेक्नीशियन का कोर्स 1 साल का होता है और इसमें कम से कम ₹36000 खर्च आ सकता है और यह भी डिपेंड करता है कि आप सरकारी या प्राइवेट कॉलेज पर यह कोर्स कर रहे हैं तो इस खर्च से कम या ज्यादा फीस भी लग सकती है

पंचकर्म कोर्स कौन कर सकता है?

पंचकर्म कोर्स करने के लिए आप 12वीं पास किसी भी सब्जेक्ट में हो पंचकर्म कोर्स दिया पंचकर्म टेक्नीशियन का कोर्स कर सकते हैं

Madhya Pradesh General Knowledge (MP GK) is a very important topic for all the competitive exams conducted by the Government of Madhya Pradesh. Check Latest MP GK in Hindi for MPPSC and other MP State Exams.

1 thought on “आयुर्वेदिक डिप्लोमा कोर्स | Ayurvedic Diploma Course”

  1. पंचकर्म टेक्निशियन कोर्स की जानकारी बिहार कॉलेज की दे

    Reply

Leave a Comment