मध्य प्रदेश का सामान्य परिचय | Madhya Pradesh ka Samanya Gyan

अगर आप मध्य प्रदेश का सामान्य परिचय – Madhya Pradesh ka Samanya Gyan पढना चाहते हैं और मध्य प्रदेश के प्रतियोगी परीक्षाओं की तेयारी  कर रहे हैं तो यह जानकारी आपके लिए ही है | इस पोस्ट में हम मध्यप्रदेश के बेसिक जानकारी देने जा रहे हैं जिन्हें जानना आपके आवश्यक है |

मध्य प्रदेश का सामान्य परिचय - Madhya Pradesh ka Samanya Gyan
मध्य प्रदेश का सामान्य परिचय – Madhya Pradesh ka Samanya Gyan

मध्यप्रदेश के अन्य नाम या उपनाम –

  • हिरदय प्रदेश ,
  • सोया स्टेट ,
  • लघु भारत ,
  • मध्य भारत ,
  • टाइगर राज्य ,
  • नदियों का मायका ,
  • सेन्ट्रल प्रोविसेंस,
  • बरार, 
  • हीरा प्रदेश,
  • वनों का राज्य
  • तेंदुआ राज्य
  • वुल्फ स्टेट या भेड़िया राज्य
  • तेंदूपत्ता राज्य
  • र्गिद्ध राज
  • राष्ट्रीय उद्यानों का राज्य
  • घड़ियाल राज्य आदि

मध्य प्रदेश की राजधानियां

प्रशासनिक राजधानी भोपाल

  • संस्कारधानी जबलपुर
  • आर्थिक व खेल राजधानी इंदौर
  • उर्जा राजधानी सिंगरौली
  • ग्रीष्मकालीन राजधानी पचमढ़ी
  • संगीत राजधानी मैहर
मध्य प्रदेश की राजधानी – भोपाल
मध्यप्रदेश का राज्य दिवस – १ नवम्बर 1956
मुख्य भाषा – हिंदी
अन्य भाषाएँ – हिंदी उर्दी एव क्षेत्रीय भाषाएँ

मध्यप्रदेश के प्रतीक चिन्ह

#मध्यप्रदेश का राजकीय फल –  आम
वानस्पतिक नाम मांगिफेरा इंडिका और यह संपूर्ण मध्यप्रदेश में पाया जाता है मध्यप्रदेश में नूरजहां (अलीराजपुर जिला) सुंदरजा (रीवा जिला) की प्रमुख प्रजाति पाई जाती है मध्यप्रदेश में आम अनुसंधान केंद्र रीवा जिले के गोविंदगढ़ में स्थित है।
#मध्यप्रदेश का राजकीय पुष्प – सफेद लिली
सफेद लिली scaled
सफेद लिली का वैज्ञानिक नाम लिलियम कैंडीडम है और यह लिलीएसी कुल का पुष्प है यह सफेद लिली संपूर्ण मध्य प्रदेश में पाया जाता है
#मध्यप्रदेश का राजकीय पशु – बारह सिंघा
बारहसिंघा का वानस्पतिक नाम रूसवर्स दुवाउसेली है और यह ब्रैड्री प्रजाति का है बारहसिंघा मुख्य रूप से कान्हा किसली राष्ट्रीय उद्यान मंडला बालाघाट में पाया जाता है इसे राजकीय पशु होने का दर्जा वर्ष 1981 में दिया गया है।
2017 में कान्हा राष्ट्रीय उद्यान ने भूर सिंह द बारहसिंघा नाम से अपना शुभंकर जारी किया है।
#मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी – दूध राज
मध्यप्रदेश का राजकीय पक्षी दूध राज scaled
दूधराज पक्षी को हम पैराडाइज फ्लाइसेचर या शाह बुलबुल के नाम से भी जानते हैं और इसका वैज्ञानिक नाम टर्प सिफोनी पैराडाइसे है यह मुख्य रूप से पश्चिमी मध्य प्रदेश में पाया जाता है दूधराज को वर्ष 1981 में राजकीय पक्षी होने का दर्जा प्राप्त हुआ है यह (सरदारपुर अभ्यारण- धार) (सैलाना अभ्यारण -रतलाम ) मैं पाया जाता है
#मध्यप्रदेश का राजकीय मछली – महाशीर
मध्यप्रदेश का राजकीय मछली महाशीर scaled
महाशीर मछली का वैज्ञानिक नाम टोर प्यूटीटौरा  है जो कि टोर  प्रजाति का है यह मध्य प्रदेश की नर्मदा नदी में पाया जाता है महाशीर मछली को वर्ष 2011 में राजकीय मछली होने का दर्जा प्राप्त है बड़वाह में महाशीर प्रजनन केंद्र स्थापित किया गया है।
#मध्यप्रदेश का राजकीय  नाट्य – माच
यह नाट्य मालवा क्षेत्र में होता है यह मालवी लोक जीवन पर आधारित है और इसके प्रमुख कलाकार सिद्धेश्वर सेन और ओमप्रकाश शर्मा जी हैं
#मध्यप्रदेश का राजकीय फसल – सोयाबीन
मध्यप्रदेश का राजकीय फसल सोयाबीन0A0A 0A scaled
सोयाबीन का वानस्पतिक नाम ग्लाइसीन मैक्स होता है जो कि लेग्य मिनेसी कुल का है और इसकी प्रमुख किस्में समृद्धि, प्रसाद, प्रतिकार ,अहिल्या ,अलंकार है और सोयाबीन का उत्पादन मुख्य रूप से मालवा क्षेत्र में होता है और मध्य प्रदेश को सोया प्रदेश भी कहा जाता है।
#मध्यप्रदेश का राजकीय खेल –  मलखंब
मल्खम्ब को वर्ष 2013 में मध्यप्रदेश का राजकीय खेल घोषित किया गया है और यह मुख्य रूप से मालवा क्षेत्र में खेला जाता है मध्यप्रदेश में मलखंब अकादमी उज्जैन में स्थित है और इस खेल में दिए जाने वाले प्रमुख सम्मान प्रभाष जोशी सम्मान है और वर्ष 2020 में मलखंब को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार में शामिल किया गया है।
#मध्यप्रदेश का राजकीय गान
सुख का दाता  ,सबका साथी, सुख का यह सन्देश है| माँ की गोद ,पिता का आश्रय , मेरा मध्यप्रदेश है
मध्य प्रदेश गान की घोषणा 26 जुलाई 2011 में की गई और इसके रचनाकार महेश श्रीवास्तव एवं संगीतकार आदेश श्रीवास्तव ,सुनील झा तथा गायक शान (शांतनु मुखर्जी) है
#मध्यप्रदेश का राजकीय चिन्ह 
मध्यप्रदेश का राजकीय चिन्ह scaled
24 स्तूप आकृति के अंदर एक वृत है , जिसमे गेंहू और धान की बालियाँ प्रदर्शित हैं
चिह्न में सबसे बाहर 24 स्तूप अंकित है और इसके बाद एक व्रत है जो की तरक्की और विकास की असीम संभावनाओं का प्रतीक है इस व्रत के अंदर मध्यप्रदेश शासन और सत्यमेव जयते लिखा हुआ है राज्य की प्रमुख फसलें गेहूं और धान की बालियां भी अंकित है केंद्रीय व्रत में अशोक स्तंभ की प्रकृति और राज्य वृक्ष बरगद को अंकित किया गया है।
#मध्य प्रदेश का राजकीय वृक्ष बरगद
बरगद का वानस्पतिक नाम फाइकस वेनगैलेन्सिस  है जो कि फाइकस प्रजाति का है यह बरगद का वृक्ष संपूर्ण मध्यप्रदेश में पाया जाता है मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इसे 1981 में राजकीय वृक्ष का दर्जा दिया गया मध्य प्रदेश का पहला बरगद पार्क इंदौर के बड़गोदां  में प्रस्तावित है
# राजकीय नृत्य राई
यह नृत्य बुंदेलखंड क्षेत्र का है इसमें मृदंग वाद्य यंत्र के साथ किसी भी शुभ अवसर पर किया जाता है इसके प्रमुख कलाकार ज्ञानेश्वरी जो कि कटनी जिले से हैं
राई नृत्य बुंदेलखंड और बघेलखंड दोनों क्षेत्र में होता है बुंदेलखंड के राई नृत्य में वाद्य यत्र मृदंग एवं बघेलखंड में ढोलक
का प्रयोग किया जाता है।
मध्यप्रदेश का राजकीय नदी – नर्मदा नदी
मध्यप्रदेश का क्षेत्रफल- 3,08,252 वर्ग किलोमीटर
मध्यप्रदेश का विस्तार – पूर्व से पश्चिम 870 किलोमीटर एव उत्तेर से दक्षिण 605 कीलोंमीटर
मध्य प्रदेश का विधान सभा सीटें – 230
लोकसभा सीटें – 29
राज्यसभा सीटें – 11
मध्यप्रदेश में कुल संभाग – 10
कुल जिले – 52
कुल तहसीलें – 424
कुल विकासखंड – 313
कुल नगर निगम – 16
कुल नगरपालिकाएं – 98
कुल जनपद पंचायत – 313
कुल ग्राम – 54,903
कुल जिला पंचायत – 52
कुल पुलिश रेंज  – 11
रेंज – 15
पुलिस जिले – 52
खंड पीठ –  इंदौर व् ग्वालियर
मध्यप्रदेश का उच्चन्यायालय  – जबलपुर
मध्यप्रदेश में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित विधानसभा क्षेत्र – 35
अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित विधानसभा क्षेत्र – 47
अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित लोक सभा क्षेत्र – ४ [देवास ,उज्जैन ,भिंड , टीकमगढ़]
अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित लोक सभा क्षेत्र – 6 【,शहडोल, मंडला, बैतूल ,खरगौन,धार, रतलाम】
मध्यप्रदेश में कुल SC/ST के लिए आरक्षित विधानसभा सीटें – 82
मध्यप्रदेश में कुल SC/ST के लिए आरक्षित लोक सभा सीटें – 10
Read also

We provide insights on diverse topics including Education, MP GK, Government Schemes, Hindi Grammar, Internet Tips and more. Visit our website for valuable information delivered in your favorite language – Hindi. Join us to stay informed and entertained.

Sharing Is Caring:

Leave a Comment